आदर्श आत्माएं

जो दूसरों को उन्नत करने, उनके लिए खुशियां ढूंढने और उनकी सहायता के लिए हाथ बढ़ाने की दिशा में संघर्षरत है वे ऐसी उन्नत और प्रबुद्ध आत्मा के स्वामी हैं कि वे संरक्षक देवदूतों की तरह है। वे समाज को नष्ट करती विपदाओं से संघर्षरत रहते हैं, “तुफानों” का सामना करते हैं, “ अग्निशमन” में शीघ्रता दिखाते हैं और सदा संभावित आघातों से सचेत रहते हैं।

Pin It
  • Created on .
प्रकाशनाधिकार © 2020 फ़तेहउल्लाह गुलेन. सर्वाधिकार सुरक्षित
fgulen.com प्रसिद्ध तुर्की विद्वान और बौद्धिक फतहुल्लाह गुलेन पर आधिकारिक स्रोत है